वे महान हैं जो शब्द को निकालने के पीछे सौ बार सोचते ‌हैं आचार्य विद्यासागर




टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट