जैनी है सो दुख की नाही: पूर्णमति माताजी | Sadhvi PoornaMati on Joy

प्रतिकूल परिस्थितियां आ जाएं तो अपने अनुकूल बना करके अपने आप को आनंदित रखिएगा। 


इसलिए कहा है ना: 

जैनी है सो दुखी नाही 

दुखी है सो जैन नाही 

जैन और दुखी में महा विलोम है। 


जैन धर्म पाए केऊ 

तोऊ कष्ट नाही मिट्यो 

तो बताओ कष्ट नाश 

हेतु क्या दवाई है?

जैन होने का अर्थ?

जैन का मतलब होता है जिसने अपने इंद्रियों पर विजय पा ली हो। जैन शब्द किसी भी संप्रदाय विशेष से ताल्लुकात नहीं रखता है। 

जिसने भी इंद्रियों पर विजय प्राप्त कर ली हो वह जैन बन सकता है। जैन उपनाम लगाने से कोई जैन नहीं बन जाता।


Jainism & Happiness, Jain hai so dukhi nahin, purnamati mataji on happiness, प्रतिकूल परिस्थितियां आ जाएं तो अपने अनुकूल बना करके अपने आप को आनंदित रखिएगा। इसलिए कहा है ना जैनी है सो दुखी नाही दुखी है सो जैन नाही जैन और दुखी में महा विलोम है। जैन धर्म पाए केहू तोहू कष्ट नाही मिट्यो तो बताओ कष्ट नाश हेतु क्या दवाई है?


टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट